News Nuh mewat | monu maneser | नूह मेवात दंगो के लिए कौन जिम्मेदार

Nuh haryana |Nuh mewat news | nuh mewat taza khabar |Monu maneser |monu mandeer kon hai


 nuh हिंसा पर हरियाणा सरकार पर एकतरफा कार्यवाही के आरोप लग रहे है । 31 जुलाई की रात और 1 अगस्त की सुबह हरियाणा पुलिस में नूह जिले से सटे गांव में छापेमारी की और सैकड़ो की तादात में मेव लड़को को गिरफ्तार किया है । 

मेवात इलाके में लोगों के जहन में ख़ौफ़ का माहौल है एक तरह धारा 144 लगाकर पुलिस बिना किसी छानबीन के लड़कों को गिरफ्तार कर रही है वहीं दूसरी और बजरंग दल के कार्यकर्ता आज़ाद घूम रहे है और उन पर किसी का कोई नियंत्रण नही है । 

Muh mewat में हिंसा के बाद आग की लपटें गुरुग्राम तक पहुंच गयी और दंगाईयों की एक भीड़ ने सेक्टर 57 की मस्जिद को आग के हवाले कर दिया और उसके नायाब इमाम को जान से मार दिया । इस हमले में 4 लोग और भी घायल हुए जिनमे से एक कि हालात नाज़ुक बताई जा रही है ।


हमले के वक़्त मस्जिद की सुरक्षा के लिए 9 पुलिस कर्मी तैनात थे लेकिन 100 के करीब दंगाइयों की भीड़ उन से सम्भाली नही गयी । इस हमले का आरोप मस्जिद के करीब 500 मीटर की दूर पर बसे गांव के नोजवानों पर है लेकिन लोगों का कहना है कि पुलिस ने अभी गांव में किसी से पूछताछ नही की है ।

एक तरह जहाँ नूह मेवात में लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है वही दूसरी और आरोपियों से पूछताछ ना करना पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करता है  अल्पसंख्यक के मामलों में हर बार सरकार पर सवाल खड़े होते है और हर बार सरकार एक ही मानसिकता के तहत कार्यवाही करती है । 


गुनाहगार को सज़ा मिलनी ही चाहिए लेकिन रात के अंधेरे में आप कैसे निर्दोष और गुनाहगार में फर्क करेंगे । जो पकड़ में आया वो ही गुनाहगार माना जायेग बाकी सब निर्दोष ही है ।




सोशल मीडिया पर ऐसी कई पोस्ट और वीडियो है जिनमे बजरंग दल से जुड़े लोग धमकी भरे अंदाज़ में एक पूरी कोम को चैलेंज कर रहे है और अपने आपको को मेवात का जीजा तक कह रहे है । खुद मोनू मानेसर जो जुनैद और नासिर का हत्यारा है रैली में शामिल होने की बात करता है और प्रशासन इस बात पर कोई संज्ञान कोई एक्शन नही लेता । 


हरियाणा के मुख्यमंत्री मंत्री बार बार इसे सुनियोजित हिंसा बता रहे है और सख्त कार्यवाही की भी बात कर रहे है  लेकिन उनकी बातों के अंदाज़ से साफ जाहिर होता है कि उनकी नज़र में मुसलमान ही मुजरिम है और उन पर ही कार्यवाही हो रही है । 



क्या प्रशासन इस बात पर सफाई दे सकता है कि मोनू मानेसर को आखिर पुलिस क्यों गिरफ्तार नही कर पा रही है जो व्यक्ति खुलेआम खूम रहा है उसे हरियाणा की पुलिस फरार बता रही है । 


नूह मेवात में हुए दंगों के लिए हर बार की तरह बजरंग दल और हरियाणा पुलिस भी जिम्मेदार है । एक धार्मिक जुलूस में हथियार के साथ शामिल होना लोगों की मंशा की साफ दर्शाता है ।


kon hai monu maneser


मूल रूप से हरियाणा के पलवल का रहने वाला मोहित यादव उर्फ मोनू मानेसर मेवात में हुए कई हत्याकांड का मुख्य आरोपी माना जाता है ।  फरवरी में नासिर और जुनैद के शव हरियाणा के भिवानी में मिले थे और इस हत्याकांड में पुलिस ने मोन मानेसर को मुख्य अभियुक्त बनाया था । राजस्थान की पुलिस कई बार मोनू मानेसर को गिरफ्तार करने हरियाणा जा चुकी है लेकिन हर बार उसे खाली हाथ ही वापस आना पड़ा है । हरियाणा पुलिस के अनुसार मोनू मानेसर अभी फरार है जबकि कई बार वो सोशल मीडिया के ज़रिए लीगो के सामने आते रहे है । 



6 फरवरी को पटौदी में भडकी हिंसा में 1 मुस्लिम लड़के की गोली लगने से मौत हो गयी थी । सोशल मीडिया पर मोनू मानेसर का एक वीडियो वायरल है जिसमे वो गोलियां चला रहे है लेकिन हरियाणा पुलिस ने कभी वो वीडियो देखा ही नही और ना ही उस मामले में उनकी कभी गिरफ्तारी हुई । 






Comments

Popular posts from this blog

Love marriage in islam | इस्लाम लव मैरिज , गर्ल फ्रेंड और परिवार की मर्ज़ी के बिना शादी के बारे में क्या कहता है ?

Kin se nikah haram hai | kis aurat se shadi nahi karni chahiye

Joe jonas and sophie turner divorce । जेठ और जेठानी के तलाक से परेशान हुई प्रियंका चोपडा