Rahul gandhi की सज़ा पर रोक से किसका नफा किसका नुकसान , rahul gandhi news

Rahul gandhi news , bharat jodo yatra , rahul gandhi modi , rahul gandhi ka bayan


Rahul gandhi modi

 मोदी सरनेम मामले में राहुल गांधी की सज़ा पर रोक को कांग्रेस पार्टी अपनी जीत के तौर पर देख रही है लेकिन क्या कांग्रेस पार्टी को इससे कुछ फायेदा होगा भी नही ।  rahul gandhi  अक्सर ऐसे बयान देते है जिसका कांग्रेस पार्टी को फायदा कम और नुकसान ज्यादा होता है ।

Rahul gandhi की सज़ा पर रोक अगर नही लगती तो इससे कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी को आने वाले इलेक्शन में सहानुभूति मिलती और हो  सकता है कि congress party ये इलेक्शन अपनी सहयोगी पार्टियों के साथ मिलकर जीत भी जाती ।

राजनीति में कभी भी किसी पर निजी हमले नही करने चाहिए । pm modi और अम्बानी अडानी पर किये गए निजी हमलो का राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी को खासा नुकसान हुआ है ।

Rahul gandhi की खामियां

राजनीति में उतार चढ़ाव आना कोई भी नई बात नही है । जब दो लोग मैदान में उतरते है तो एक का हारना तय होता है । लेकिन अपनी जीतने के लिए पूरी ताकत नही लगाना और हार से कोई सबक हासिल नही करना राहुल गांधी की आदत बनती जा रही है । 

Congress party के भीतर पैदा हुए असंतोष को भी राहुल गांधी कभी भी राहुल गांधी सुलझा नही पाए । मध्यप्रदेश में दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच सुलह नही करवा पाना मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार के गिरने का मुख्य कारण बन ।

Punjab में कांग्रेस पार्टी जी लुटिया डुबाने का सेहरा भी राहुल गांधी के सिर पर ही है । कैप्टन अमरिंदर सिंह को ऐसे वक्त में पार्टी से बेदखल करने जबकी punjab election सर पर थी बिल्कुल भी सही फैसला नही था । 


कांग्रेस के लिए राजस्थान ही एक मात्र राज्य है जो राहुल गांधी की गलत नीति के बाद भी जहां सरकार बची रही । sachin pilot जैसे एक पार्टी विरोधी नेता की पार्टी में लगातार बनाये रखने का खामियाजा बहुत जल्द राजस्थान में कांग्रेस पार्टी भुगतने वाली है । sachin pilot इस बार कांग्रेस और गहलोत को हराने के लिए जी जान से कोशिश कर रहे है और sachin pilot के राजनीतिक जीवन के लिए ये ज़रूरी भी है ।


Rahul gandhi का पार्टी को नुकसान

 कुछ लोग ऐसे होते है जो राजनीति के लिये बिलकुल भी सही नही होते है और राहुल गांधी उनम से एक है । राहुल गांधी में चाहे कितनी भी काबलियत क्यों ना हो उनमें राजनीतिज्ञ बनने की काबलियत बिल्कुल भी नही है ।  


अगर राहुल गांधी गांधी परिवार में ना जन्मे होते तो शायद ही वो किसी पार्टी के अध्यक्ष रह पाते । फुटबाल में कुछ टीमें सेल्फ गोल करके हार जाती है  इसी तरह से राहुल गांधी के बयान है जो कांग्रेस पार्टी की हार का कारण बनते है । राहुल गांधी बिना कुछ सोचे समझे ऐसे बयान दे देते है जिनकी सफाई पूरी पार्टी को देनी पडती है । 


Rahul gandhi ka congress party ko benefits

राजनीति से gandhi family का नाता कई दशक पुराना है ऐसे में अगर पार्टी इस वक़्त अपने सबसे खराब दौर से गुजर रही है तब भी गांधी परिवार ही पूरे विपक्ष को एक साथ लेकर चलने की काबलियत रखता है । राहुल गांधी क्योंकि गांधी परिवार की विरासत है इसलिए लोग उनकी बातों को सुनते है और उनसे जुड़ भी जाते है इसलिए राहुल गांधी का 2024 के इलेक्शन में लड़ना कांग्रेस पार्टी , पूरे विपक्ष और पूरे देश के लिए अच्छी खबर है ।

Bharat jodo yatra का प्रभाव ।

राहुल गांघी की bharat jodo yatra की चर्चा देश और विदेश में रही लेकिन क्या वो सच मे भारत को जोड़ पाए या वो खुद को भारत के लीगों से जोड़ पाए ये ही वो सवाल है जिनके ज़बाब आने बाकी है और 2024 का लोक सभा का इलेक्शन इन सारे सवालों के ज़बाब दे देगा । 






Comments

Popular posts from this blog

Love marriage in islam | इस्लाम लव मैरिज , गर्ल फ्रेंड और परिवार की मर्ज़ी के बिना शादी के बारे में क्या कहता है ?

Kin se nikah haram hai | kis aurat se shadi nahi karni chahiye

Joe jonas and sophie turner divorce । जेठ और जेठानी के तलाक से परेशान हुई प्रियंका चोपडा